समकालीन जनमत (पत्रिका) के लिए संपर्क करें-समकालीन जनमत,171, कर्नलगंज (स्वराज भवन के सामने), इलाहाबाद-211002, मो. नं.-09451845553 ईमेल का पता: janmatmonthly@gmail.com

Thursday, October 22, 2009

पेड़ों को दु:ख है


पेड़ों को दु:ख है कि

उस कवि ने भी कभी अपनी कविताओं में

उसका ज़िक्र नहीं किया

जो रोज़ उसकी छाया में बैठ

लिखता रहा देश-दुनियां पर कविताएं..



पेड़` कविता से : अशोक सिंह

2 comments:

Pandit Kishore Ji said...

bahut khoob

पी.सी.गोदियाल said...

गहरी टीस उजागर कर दी !